Monday , May 17 2021

Ahmed Faraz Category

Dhadkan – Ahmed Faraz

इतनी सी बात पे दिल की धड़कन रुक गई “फ़राज़” एक पल जो तसव्वुर किया तेरे बिना जीने का

Read More »

Ab Ke Rut Badli To – Ahmed Faraz

अब के रुत बदली तो ख़ुशबू का सफ़र देखेगा कौन  ज़ख़्म फूलों की तरह महकेंगे पर देखेगा कौन  देखना सब रक़्स-ए-बिस्मल में मगन हो जाएँगे  जिस तरफ़ से तीर आयेगा उधर देखेगा कौन  वो हवस हो या वफ़ा हो बात महरूमी की है  लोग तो फल-फूल देखेंगे शजर देखेगा कौन  …

Read More »

Faraz Ab Koi Souda Koi Junun Bhi Nahi – Ahmed Faraz

“फ़राज़ अब कोई सौदा कोई जुनूँ भी नहीं  मगर क़रार से दिन कट रहे हों यूँ भी नहीं  लब-ओ-दहन भी मिला गुफ़्तगू का फ़न भी मिला  मगर जो दिल पे गुज़रती है कह सकूँ भी नहीं  मेरी ज़ुबाँ की लुक्नत से बदगुमाँ न हो  जो तू कहे तो तुझे उम्र …

Read More »

Bhale Dino Ki Baat Thi – Ahmed Faraz

भले दिनों की बात थी भली सी एक शक्ल थी ना ये कि हुस्ने ताम हो ना देखने में आम सी ना ये कि वो चले तो कहकशां सी रहगुजर लगे मगर वो साथ हो तो फिर भला भला सफ़र लगे कोई भी रुत हो उसकी छब फ़जा का रंग …

Read More »

Judai – Ahmed Faraz

किस किस को बताएँगे जुदाई का सबब हम तू मुझ से ख़फ़ा है, तो ज़माने के लिए आ

Read More »

Mazboor – Ahmed Faraz

आँख मजबूर-ए-तमाशा है ‘फ़राज़’ एक सूरत है कि हरसू चमके

Read More »