Monday , May 17 2021

Amir Minai Category

Us Ki Hasrat Hai Jise Dil Se Mita Bhi Na Sakun – Amir Minai

उस की हसरत है जिसे दिल से मिटा भी न सकूँ ढूँढने उस को चला हूँ जिसे पा भी न सकूँ डाल कर ख़ाक मेरे ख़ून पे क़ातिल ने कहा कुछ ये मेहंदी नहीं मेरी के मिटा भी न सकूँ ज़ब्त  कमबख़्त ने और आ के गला घोंटा है के …

Read More »

Ahista Ahista – Amir Minai

जवाँ होने लग जब वो तो हमसे कर लिया पर्दा हया यकलख़्त आई और शबाब आहिस्ता आहिस्ता

Read More »

Wasl – Amir Minai

वस्ल का दिन और इतना मुख़्तसर दिन गिने जाते थे इस दिन के लिये

Read More »

Duniya – Amir Minai

सारी दुनिया के हैं वो मेरे सिवा  मैंने दुनिया छोड़ दी जिन के लिये 

Read More »

Marna – Amir Minai

जान देने का कहा मैंने तो हँसकर बोले  तुम सलामत रहो हर रोज़ के मरने वाले 

Read More »

Wada – Amir Minai

आख़िरी वक़्त भी पूरा न किया वादा-ए-वस्ल  आप आते ही रहे मर गये मरने वाले 

Read More »