अगर तू जिद होती -एटीट्यूड शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

सुन पगली - तू मोहब्बत है मेरी इसलिए दूर है मुझसे,अगर जिद होती तो मेरी बाहों में होती।

एटीट्यूड शायरी

Related Post

अपनी मोहब्बत के लिए आशियाना बदल देंगे,दिल ने चाहा तो ये फ़साना बदल देंगे,अरे दुनिया वालों तुम्हारी हस्ती ही क्या है,जरूरत पड़ी तो सारा ज़माना ही बदल देंगे। - एटीट्यूड शायरी

एट्टीट्यूड तो हम( बादशाह सेब खान द्वारा दिनाँक 04-10-2016 को प्रस्तुत )एट्टीट्यूड तो हम मरने के बाद भीदिखाएंगे...दुनिया पैदल चलेगी और हमकंधो पर। - एटीट्यूड शायरी

हमने ऊँची हस्तियाँ भी देखीं और घनी बस्तियाँ भी देखीं,आवारगी भी देखी और कड़ी गिरफ़्तियाँ भी देखीं,उनसे कहो कि हमे उड़ना न सिखाये ऊँचे असमानों में,हमने उड़ते जहाज भी देखे और डूबती कस्तियाँ भी देखीं।...

तुम ज़िंदगी में आ तो गए हो मगर इतना याद रखना,हम जान दे देते हैं मगर जाने नहीं देते - । एटीट्यूड शायरी

बदलना चाहते हो तो शौक से बदलो,मगर इतना याद रखना...जो हम बदले तो करवटें बदलते रह जाओगे। - एटीट्यूड शायरी

कुछ अजीब शख्सियत है हम दोनों की - न वो #Ghazal में बयाँ होती हैं न हम #Status में। एटीट्यूड शायरी

leaf-right
leaf-right