आशिक़ को यूँ ना पीटो -फनी शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

अर्ज़ किया है -

फनी शायरी

Related Post

नज़रें मिली तो बेख्याल हो गए,नज़रें झुकी तो सवाल हो गए,और इतना घुमाया उसे प्यार में,शॉपिंग कराते कराते कंगाल हो गए! फनी शायरी

कितना शरीफ शख्श है वीवी पे फ़िदा है,उस पे ये कमाल है कि अपनी पे फ़िदा है। फनी शायरी

आशिक पागल हो जाते( एडमिन द्वारा दिनाँक 16-10-2015 को प्रस्तुत )आशिक पागल हो जाते हैं प्यार में,बाकी कसर पूरी हो जाती है इंतज़ार में,मगर ये दिलरुबा नहीं समझती,वो तो गोल गप्पे और पपड़ीखाती फिरती है...

लड़कियों से प्यार न करना क्योंकि,दिखती हैं हीर की तरह,लगती हैं खीर की तरह,दिल में चुभती हैं तीर की तरह,और छोड़ जाती हैं फकीर की तरह । फनी शायरी

न रेनकोट ना छाता( एडमिन द्वारा दिनाँक 20-06-2017 को प्रस्तुत )ये बारिश का मौसम बहुत तड़पाता है,वो बस मुझे ही दिल से चाहता है,लेकिन वो मिलने आए भी तो कैसे...?उसके पास न रेनकोट है और...

तेरा प्यार भी हजार की नोट जैसा है,डर लगता है कहीं नकली तो नहीं । - फनी शायरी

leaf-right
leaf-right