उनकी यादों को मिटाना – याद शायरी

उनकी यादों को मिटाना बहुत कठिन है,
अपने गम को भूल जाना बहुत कठिन है,
जब राहे-मयखानों पर चलते हैं कदम,
होश में लौट कर आना बहुत कठिन है।

- याद शायरी

Related Post

आँखों में कुछ अरमान दिया करते हैं,हम सबकी नींद चुरा लिया करते हैं,इतनी बार आप साँस भी न लेते होगे,जितनी बार हम आपको याद किया करते हैं।Missing You - याद शायरी

चाँद रोया याद में( आकाश घराना द्वारा दिनाँक 20-05-2017 को प्रस्तुत )आज भीगी है पलकें किसी की याद में,आकाश भी सिमट गया है अपने आप में,ओस कि बूदें ऐसी गिरी है जमीन पर,मानो चाँद भी...

मेरा भूलने वाला( एडमिन द्वारा दिनाँक 21-10-2016 को प्रस्तुत )मेरे क़ाबू में न पहरों दिले-नाशाद आया,वो मेरा भूलने वाला जो मुझे याद आया। - याद शायरी

तेरी यादों की हवा( विशाल सिंह सोरवीश द्वारा दिनाँक 14-12-2018 को प्रस्तुत )रोज सुबह उठता हूँ पत्थर सी आँखें लेकर,ये तेरी यादों की हवा मेरे अश्क़ सुखा देती है। - याद शायरी

फिर पलट रही हैं सर्दियों की सुहानी रातें,फिर तेरी याद में जलने के जमाने आ गए। याद शायरी

यूँ दूर रहकर दूरियों को बढ़ाया नहीं करते,अपने दीवानों को ऐसे सताया नहीं करते,हर वक़्त बस जिसे तुम्हारा हो ख्याल,उसे अपनी आवाज़ के लिए तड़पाया नहीं करते।Missing You Dear... - याद शायरी

leaf-right
leaf-right