कल बस यादें होंगी -याद शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

आज ये पल है, कल बस यादें होंगी,जब ये पल ना होंगे, तब सिर्फ बातें होंगी,जब पलटोगे जिंदगी के पन्नों को,तो कुछ पन्नों पर आँखें नमऔर कुछ पर मुस्कुराहटें होंगी।

याद शायरी

Related Post

तेरी बेरुखी को भी रुतबा दिया जाता है,तेरी मोहब्बत का हर फ़र्ज़ अदा किया जाता है,न सोच कि भूल गया हूँ मैं तुझे,रोज खुदा से पहले तुझे याद किया जाता है। याद शायरी

दोस्तों ये यादें भी( अनिल कुमार साहू द्वारा दिनाँक 18-04-2016 को प्रस्तुत )दोस्तों ये यादें भी बहुत ही जालिम चीज़ होती है,कभी ये हंसाती हैं ख़ुशियों के पलों के साथ।कभी ये रुलाती हैं गम की...

तेरे नाम से मुहब्बत की है, तेरे एहसास से मुहब्बत की है,तू मेरे पास नही फिर भी, तेरे याद से मुहब्बत की है । - याद शायरी

कब का भुला दिया( एडमिन द्वारा दिनाँक 24-09-2016 को प्रस्तुत )प्यार ने ये कैसा तोहफा दे दिया,मुझको ग़मों ने पत्थर बना दिया,तेरी यादों में ही कट गयी ये उम्र,कहता रहा तुझे कब का भुला दिया।...

नया कुछ भी नहीं हमदम वही आलम पुराना है,तुम्हें भुलाने की कोशिश है तुम्हीं को याद आना है। याद शायरी

तुझे प्यार मेरा सतायेगा( पंकज कुमार द्वारा दिनाँक 23-06-2015 को प्रस्तुत )तुझे प्यार मेरा सतायेगा अक्सर,यादो के तूफ़ान उठायेगा अक्सर,जिक्र मेरा करने से पहले,तू कुछ सोच के मुस्कराएगी अक्सर,मेरा नाम लिख कर किताबो मे अपनी,तू...

leaf-right
leaf-right