कहते है हर बात – एटीट्यूड शायरी

कहते है हर बात जुबां से हम इशारा नहीं करते,
आसमां पर चलने वाले जमीं से गुज़ारा नहीं करते,
हर हालात बदलने की हिम्मत है हम में,
वक़्त का हर फैसला हम गँवारा नहीं करते।

- एटीट्यूड शायरी

Related Post

हमारी शख्सियत का अंदाज़ा,तुम ये जान के लगा लो,हम कभी उनके नही होते,जो हर किसी के हो जाए। एटीट्यूड शायरी

अजीब शख्सियत है( मोहम्मद शहरुब द्वारा दिनाँक 12-06-2018 को प्रस्तुत )कुछ अजीब शख्सियत है हम दोनों की...न वो #Ghazal में बयाँ होती हैं न हम #Status में। - एटीट्यूड शायरी

मुझसे नफरत करनी है तो इरादे मजबूत रखना...जरा से भी चूके तो महोब्बत हो जायेगी। - एटीट्यूड शायरी

कहते है हर बात( एडमिन द्वारा दिनाँक 15-09-2016 को प्रस्तुत )कहते है हर बात जुबां से हम इशारा नहीं करते,आसमां पर चलने वाले जमीं से गुज़ारा नहीं करते,हर हालात बदलने की हिम्मत है हम में,वक़्त...

आग लगाना मेरी फितरत में नही है,मेरी सादगी से लोग जलें तो मेरा क्या कसूर। - एटीट्यूड शायरी

जरा सा बिगड़ जाएं( एडमिन द्वारा दिनाँक 13-12-2017 को प्रस्तुत )हमारी सादगी ही गुमनाम रखती है हमें,जरा सा बिगड़ जाएं तो मशहूर हो जाएं। - एटीट्यूड शायरी

leaf-right
leaf-right