किसको दिखाएँ दर्द – दर्द शायरी

पास आकर सभी दूर चले जाते हैं,
हम अकेले थे अकेले रह जाते हैं,
किसको दिखाएँ अपने दिल का दर्दचाहने वाले ही जख्म दे जाते हैं।

- दर्द शायरी

Related Post

दर्द तो बहुत है दिल मेंपर दिखा नही सकते,करते है मोहब्बत तुमसेपर बता नही सकते। - दर्द शायरी

दर्द ने करवट ली( एडमिन द्वारा दिनाँक 08-05-2017 को प्रस्तुत )दिल के तड़पने का कुछ तो सबब है आख़िर या दर्द ने करवट ली है या तुमने इधर देखा है। - दर्द शायरी

दर्द बेचारा परेशाँ( एडमिन द्वारा दिनाँक 29-08-2017 को प्रस्तुत )एक दो ज़ख्म नहीं जिस्म है सारा छलनीदर्द बेचारा परेशाँ है... कहाँ से निकले। - दर्द शायरी

बहुत हो चुका इंतज़ार उनका,अब और ज़ख़्म सहे जाते नहीं,क्या बयान करें उनके सितम को,दर्द दिल के हैं कहे जाते नहीं। - दर्द शायरी

इन आँखों में पानी( मोहित शाक्य द्वारा दिनाँक 29-04-2017 को प्रस्तुत )अपनी तो जिंदगी की अजब कहानी है,जिसे हमने चाहा वही हमसे बेगानी है,हँसता हूँ दोस्तों को हँसाने के लिए,वरना इन आँखों में पानी ही...

एक वादा था तेरा हर वादे के पीछे,तू मिलेगी मुझे हर दरवाज़े के पीछे,पर तू मुझे रुसवा कर गई,एक तू ही न थी मेरे जनाजे के पीछे इतने में लड़की की आवाज़ आई, दर्द शायरी

leaf-right
leaf-right