खुदा बुरी नज़र से – दुआ शायरी

खुदा बुरी नज़र से बचाए आप को,
चाँद सितारों से सजाए आप को,
ग़म क्या होता है ये आप भूल ही जाओ,
खुदा ज़िंदगी मे इतना हँसाए आप को।

- दुआ शायरी

Related Post

बस एक ही दुआ( चंद्रपाल द्वारा दिनाँक 31-05-2017 को प्रस्तुत )ज़िंदगी में न कोई राह आसान चाहिए,न कोई अपनी ख़ास पहचान चाहिए,बस एक ही दुआ माँगते हैं रोज भगवान से,आपके चेहरे पे प्यारी सी मुस्कान...

मेरे हक़ में दुआ( एडमिन द्वारा दिनाँक 08-12-2016 को प्रस्तुत )न जाने किसने पढ़ी है मेरे हक़ में दुआ,आज तबियत में जरा आराम सा है। - दुआ शायरी

हमारी हर खुशी( कुलबीर सिंह द्वारा दिनाँक 21-09-2018 को प्रस्तुत )हमारी हर खुशी का एहसास तुम्हारा हो,तुम्हारे हर ग़म का दर्द हमारा हो,मर भी जाएँ तो हमें कोई ग़म नहीं,बस आखिरी वक़्त पे साथ तुम्हारा...

कामयाबी के हर शिखर पर तुम्हारा नाम होगा,तुम्हारे हर कदम पर दुनिया का सलाम होगा,हिम्मत से मुश्किलों का सामना करना दोस्त,दुआ है कि वक़्त एक दिन तुम्हारा गुलाम होगा। - दुआ शायरी

जहां में तेरी यादों के सिवा कुछ भी नहीं,दिल में गुजरी बातों के सिवा कुछ भी नहीं,तू जहाँ भी रहे सदा खुश रहे,मेरे लबों पर दुआओं के सिवा कुछ भी नहीं। - दुआ शायरी

दुआ है मेरी रब से( वीरु यादव फत्तेपुरवा द्वारा दिनाँक 18-02-2018 को प्रस्तुत )दिल मिले किसी को तो किसी को दिलदार मिले,किसी को मिले गुल तो किसी को गुलजार मिले,फूल मिले किसी को तो किसी...

leaf-right
leaf-right