खुशियों के दीप जले -शुभ प्रभात

  • By Admin

  • October 31, 2021

हँसी आपकी कोई चुरा ही ना पाये,कभी कोई आपको रुला ना पाये,खुशियों के ऐसे दीप जले ज़िंदगी में,कि कोई तूफ़ान भी उसे बुझा ना पाये।। आपका दिन खूबसूरत गुजरे । सुप्रभात ।

शुभ प्रभात

Related Post

सूरज की हर किरण( एडमिन द्वारा दिनाँक 10-10-2015 को प्रस्तुत )हर फूल आपको एक नया अरमान दे,सूरज की हर किरण आपको सलाम दे,निकले कभी जो एक आँसू भी आपका,तो खुदा आपको उससे दोगुनी मुस्कान दे।।...

बीत गई तारों वाली सुनहरी रात,याद आई फिर वही प्यारी सी बात,खुशियों से हर पल हो आपकी मुलाकात,इसलिए मुस्कुरा के करना दिन की शुरुआत।सुप्रभात शुभ प्रभात

रात गुजरी फिर महकती सुबह आई,दिल धड़का फिर तुम्हारी याद आई,आँखों ने महसूस किया उस हवा को,जो तुम्हें छू कर हमारे पास आई।सुप्रभात शुभ प्रभात

सपनो के जहाँ से अब लौट आओ,हुई है सुबह अब जाग जाओ,चांद–तारों को अब कह कर अलविदा,इस नए दिन की खुशियों मे खो जाओ।!! शुभ प्रभात !! शुभ प्रभात

आँख खुलते ही याद( एडमिन द्वारा दिनाँक 14-10-2016 को प्रस्तुत )आँख खुलते ही याद आ जाता है तेरा चेहरा,दिन की ये पहली ख़ुशी भी कमाल होती है।सुप्रभात - शुभ प्रभात

आँखों ने महसूस किया शायरी( एडमिन द्वारा दिनाँक 26-12-2015 को प्रस्तुत )रात गुजरी फिर महकती सुबह आई,दिल धड़का फिर तुम्हारी याद आई,आँखों ने महसूस किया उस हवा को,जो तुम्हें छू कर हमारे पास आई।सुप्रभात -...

leaf-right
leaf-right