गर हो जाए इश्क – इश्क़ शायरी

गर हो जाए इश्क...तो हमसे साझा कर लेना।कुछ हम रख लेंगेकुछ तुम रख लेना।

- इश्क़ शायरी

Related Post

तेरा प्यार मेरी जिंदगी मेंबहार ले कर आया है, इश्क़ शायरी

इश्क़ की पहचान( एडमिन द्वारा दिनाँक 11-12-2017 को प्रस्तुत )सिर्फ सितारों में ही होती मोहब्बत अगर,तो इन अल्फाजों को खूबसूरती कौन देता,बस पत्थर बनकर रह जाता ताजमहल,अगर इश्क़ इसे अपनी पहचान ना देता। - इश्क़...

हमें तो प्यार के दो लफ्ज भी नसीब नहीं,औरबदनाम ऐसे हैं जैसे इश्क के बादशाह थे हम । इश्क़ शायरी

जा और कोई ज़ब्त की दुनिया तलाश करऐ इश्क़ हम तो अब तेरे काबिल नहीं रहे। - इश्क़ शायरी

ये इश्क भी शराब का नशा जैसा है दोस्तों,करें तो मर जाएँ और छोड़े तो किधर जाएँ। - इश्क़ शायरी

हमारे इश्क़ को यूं( एडमिन द्वारा दिनाँक 14-10-2015 को प्रस्तुत )हमारे इश्क़ को यूं न आज़माओ सनम,पत्थरों को धड़कना सिखा देते हैं हम ।~ विशाल बाबू - इश्क़ शायरी

leaf-right
leaf-right