तुझमें समा जाऊँ -रोमांटिक शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

जब यार मेरा हो पास मेरे,मैं क्यूँ न हद से गुजर जाऊँ,जिस्म बना लूँ उसे मैं अपना,या रूह मैं उसकी बन जाऊँ।

रोमांटिक शायरी

Related Post

जज़्बात बहक जाते हैं जब तुमसे मिलते हैं,अरमान मचल जाते हैं जब तुमसे मिलते हैं,मिल जाते हैं आँखों से आँखें, हाथों से हाथ,दिल से दिल, रूह से रूह जब तुमसे मिलते हैं। रोमांटिक शायरी

यार पहलू में( एडमिन द्वारा दिनाँक 19-11-2016 को प्रस्तुत )यार पहलू में है, तन्हाई है, कह दो निकले,आज क्यूँ दिल में छुपी बैठी है हसरत मेरी। - रोमांटिक शायरी

जी चाहे की दुनिया की हर एक फ़िक्र भुला कर,दिल की बातें सुनाऊं तुझे मैं पास बिठाकर। रोमांटिक शायरी

गर मेरी चाहतों के मुताबिकज़माने की हर बात होती, रोमांटिक शायरी

आप पहलू में जो बैठें तो संभल कर बैठें,दिल-ए-बेताब को आदत है मचल जाने की। - रोमांटिक शायरी

तुम्हारी प्यार भरी निगाहों को देखकरहमें कुछ ऐसा गुमान होता है,देखो ना मुझे इस कदर मदहोश नज़रों सेकि दिल बेईमान होता है। - रोमांटिक शायरी

leaf-right
leaf-right