तुझे भुला दिया फिर – याद शायरी

मैंने तो तुझे भुला दिया फिरक्यों तेरी यादों ने मुझे रुला दिया।

- याद शायरी

Related Post

याद आती है उनकी हमें( राजेश कुमार द्वारा दिनाँक 11-02-2015 को प्रस्तुत )कोई चला गया दूर तो क्या करें,कोई मिटा गया सब निशान तो क्या करें,याद आती है उनकी हमें हद से ज्यादा,मगर वो याद...

तड़प कर गुजर जाएगीयह रात भी आखिर ,तुम याद नहीं करोगे तोक्या सुबह नहीं होगी । याद शायरी

वो ही सिलसिला( गिरीश शर्मा द्वारा दिनाँक 20-04-2018 को प्रस्तुत )सिलसिला आज भी वही जारी है,तेरी याद, मेरी नींदों पर भारी है। - याद शायरी

जाने उस शख्स को( पंकज कुमार द्वारा दिनाँक 05-07-2015 को प्रस्तुत )जाने उस शख्स को कैसे ये हुनर आता है,रात होती है तो आँखों में उतर आता है ।मैं उस के खयालो से बच के...

मेरा भूलने वाला( एडमिन द्वारा दिनाँक 21-10-2016 को प्रस्तुत )मेरे क़ाबू में न पहरों दिले-नाशाद आया,वो मेरा भूलने वाला जो मुझे याद आया। - याद शायरी

नजरें उन्हें देखना चाहे तो आँखों का क्या कसूर,हर पल याद उनकी आये तो साँसों का क्या कसूर,वैसे तो सपने पूछकर नहीं आते,पर सपने उनके ही आये तो हमारा क्या कसूर। - याद शायरी

leaf-right
leaf-right