तुम्हारी अहमियत – लव शायरी

मेरी आँखों में तुम अपनी परछाइयाँ देख लेना,
फुरसत मिले तो दिल की वीरानियाँ देख लेना,
तुम नहीं जानती गर क्या है तुम्हारी अहमियत,
जरा पलटकर तुम हमारी कहानियाँ देख लेना।

- लव शायरी

Related Post

मेरी आँखों में तुम अपनी परछाइयाँ देख लेना,फुरसत मिले तो दिल की वीरानियाँ देख लेना,तुम नहीं जानती गर क्या है तुम्हारी अहमियत,जरा पलटकर तुम हमारी कहानियाँ देख लेना। लव शायरी

इतना प्यार क्यों है( प्रीत द्वारा दिनाँक 16-12-2015 को प्रस्तुत )एक अजनबी से मुझको इतना प्यार क्यों है,इंकार करने पे भी चाहत का इकरार क्यों है,उसे पाना नहीं मेरी तकदीर में शायद,फिर भी हर मोड़...

तुम हँसते हो तो मुझे हँसाने के लिए,तुम रोते हो तो मुझे रुलाने के लिए,एक बार हमसे रूठ कर तो देखिये,मर जायेंगे आपको मनाने के लिए। लव शायरी

वो पिला कर जाम लबों से अपनी मोहब्बत का,अब कहते हैं नशे की आदत अच्छी नहीं होती। लव शायरी

एहसास बयां नहीं होते( एडमिन द्वारा दिनाँक 11-03-2016 को प्रस्तुत )जो रहते हैं दिल में वो जुदा नहीं होते,कुछ एहसास लफ़्ज़ों से बयां नहीं होते,एक हसरत है कि उनको मनाये कभी,एक वो हैं कि कभी...

नजर में रहने दो( एडमिन द्वारा दिनाँक 25-02-2018 को प्रस्तुत )नहीं जो दिल में जगह तो नजर में रहने दो,मेरी हयात को तुम अपने असर में रहने दो,मैं अपनी सोच को तेरी गली में छोड़...

leaf-right
leaf-right