तू मोहब्बत से -लव शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

ज़िन्दगी से यही गिला है मुझे,तू बहुत देर से मिला है मुझे,तू मोहब्बत से कोई चाल तो चल,हार जाने का हौसला है मुझे।

लव शायरी

Related Post

सितम को हम करम समझे,जफा को हम वफा समझे,जो इस पर भी न समझे वहतो उस बुत को खुदा समझे। लव शायरी

ज़िंदगी का पहला प्यार( आकाश द्वारा दिनाँक 06-05-2018 को प्रस्तुत )दिल की धड़कन को दिखाया नहीं जाता,मोहब्बत की आग को बुझाया नहीं जाता,लाख जुदाई हो इस प्यार में फिर भी,ज़िंदगी का पहला प्यार भुलाया नहीं...

तुम्हारे प्यार का रोग नहीं जाता कसम ले लो,गले में डाल कर मैंने सैकड़ों ताबीज़ देखे हैं। लव शायरी

नहीं जो दिल में जगह तो नजर में रहने दो,मेरी हयात को तुम अपने असर में रहने दो,मैं अपनी सोच को तेरी गली में छोड़ आया हूँ,मेरे वजूद को ख़्वाबों के घर में रहने दो।...

हर साँस में उनकी( विजय द्वारा दिनाँक 27-09-2016 को प्रस्तुत )हर साँस में उनकी याद होती है,मेरी आंखों को उनकी तलाश होती है,कितनी खूबसूरत है चीज ये मोहब्बत,कि दिल धड़कने में भी उनकी आवाज होती...

सितारों को आँखों में महफूज रखना,बड़ी देर तक रात ही रात होगी,मुसाफिर हैं हम, मुसाफिर हो तुम भी,किसी मोड़ पर फिर मुलाक़ात होगी। - लव शायरी

leaf-right
leaf-right