तेरा मेरा इश्क है -इश्क़ शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

तेरा मेरा इश्क है ज़माने से कुछ जुदाएक तुम्हारी कहानी है लफ्जों से भरीएक मेरा किस्सा है ख़ामोशी से भरा।

इश्क़ शायरी

Related Post

गर हो जाए इश्क( प्रियादीप द्वारा दिनाँक 03-11-2016 को प्रस्तुत )गर हो जाए इश्क...तो हमसे साझा कर लेना।कुछ हम रख लेंगेकुछ तुम रख लेना। - इश्क़ शायरी

उससे कह दो किमेरी सज़ा कुछ कम कर दे, इश्क़ शायरी

इश्क़ को भी इश्क़ हो तोफिर देखूं मैं इश्क़ को भी,कैसे तड़पे, कैसे रोये,इश्क़ अपने इश्क़ में। - इश्क़ शायरी

ये इश्क भी शराब का नशा जैसा है दोस्तों,करें तो मर जाएँ और छोड़े तो किधर जाएँ। - इश्क़ शायरी

दिल की आवाज़ को इज़हार( एडमिन द्वारा दिनाँक 14-05-2015 को प्रस्तुत )दिल की आवाज़ को इज़हार कहते हैं,झुकी निगाह को इकरार कहते हैं,सिर्फ पाने का नाम इश्क नहीं,कुछ खोने को भी प्यार कहते हैं। -...

शायरी उसी के लबों पर सजती है साहेब,जिसकी आँखों में इश्क रोता हो। इश्क़ शायरी

leaf-right
leaf-right