तेरी बेवफाई के गीत -बेवफा शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

लिख-लिख कर मिटा दिएतेरी बेवफाई के गीत,किया करती थीतू भी वफ़ा एक ज़माने में।

बेवफा शायरी

Related Post

इस कदर बेवफ़ाई( एडमिन द्वारा दिनाँक 06-03-2018 को प्रस्तुत )ऐ बेवफा तेरी बेवफ़ाई में दिल बेकरार ना करूँ,अगर तू कह दे तो तेरा इंतेज़ार ही ना करूँ,तू बेवफा है तो कुछ इस कदर बेवफ़ाई कर,कि...

बेवफा के नाम से बदनाम( एडमिन द्वारा दिनाँक 10-10-2015 को प्रस्तुत )वफ़ा के नाम से मेरे सनम अनजान थे,किसी की बेवफाई से शायद परेशान थे,हमने वफ़ा देनी चाही तो पता चला...हम खुद बेवफा के नाम...

कह दिया बेवफा( रोमियो राज द्वारा दिनाँक 11-12-2017 को प्रस्तुत )मुझे उसके आँचल का आशियाना न मिला,उसकी ज़ुल्फ़ों की छाँव का ठिकाना न मिला,कह दिया उसने मुझको ही बेवफा...मुझे छोड़ने के लिए कोई बहाना न...

ना पूछ मेरे सब्र की इंतेहा कहाँ तक है,तू सितम कर ले, तेरी हसरत जहाँ तक हैवफ़ा की उम्मीद, जिन्हें होगी उन्हें होगी,हमें तो देखना है, तू बेवफ़ा कहाँ तक है। बेवफा शायरी

ज़रा सा बेवफा होना( एडमिन द्वारा दिनाँक 05-11-2018 को प्रस्तुत )मोहब्बत से रिहा होना ज़रूरी हो गया है,मेरा तुझसे जुदा होना ज़रूरी हो गया है,वफ़ा के तजुर्बे करते हुए तो उम्र गुजरी,ज़रा सा बेवफा होना...

कौन कहता है हम( पंकज कुमार द्वारा दिनाँक 29-06-2015 को प्रस्तुत )कौन कहता है हम उसके बिना मर जायेंगे,हम तो दरिया है समंदर में उतर जायेंगे,वो तरस जायेंगे प्यार की एक बूँद के लिए,हम तो...

leaf-right
leaf-right