तेरे आने की खबर -तन्हाई शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

तेरे आने की खबर मुझे ये हवाएं देती हैं,तेरे मिलने को मेरी हर साँस तरसती है,तू कब आके मिलेगी अपने इस दीवाने से,तुझसे मिलने को मेरी आवाज तरसती है।

तन्हाई शायरी

Related Post

चुभती है तन्हाई( अर्जुन गुप्ता द्वारा दिनाँक 26-01-2018 को प्रस्तुत )कांटो सी दिल में चुभती है तन्हाई,अंगारों सी सुलगती है तन्हाई,कोई आ कर हमको जरा हँसा दे,मैं रोता हूँ तो रोने लगती है तन्हाई। -...

तुम क्या गए कि वक़्त का अहसास मर गया,रातों को जागते रहे और दिन को सो गए। - तन्हाई शायरी

परछाइयों के शहर( विवेक सिंह द्वारा दिनाँक 20-02-2015 को प्रस्तुत )परछाइयों के शहर की तन्हाईयाँ ना पूछ...अपना शरीक-ए-ग़म कोई अपने सिवा ना था ।~ मुमताज़ राशिद - तन्हाई शायरी

हर मुलाक़ात का अंजाम( एडमिन द्वारा दिनाँक 04-02-2015 को प्रस्तुत )हर मुलाक़ात का अंजाम जुदाई क्यों है;अब तो हर वक़्त यही बात सताती है हमें।~ शहरयार - तन्हाई शायरी

पत्थर की दुनिया( कुलदीप वत्स द्वारा दिनाँक 08-03-2015 को प्रस्तुत )पत्थर की दुनिया जज्वात नहीं समझती,दिल में क्या है वो बात नहीं समझती ।तनहा तो चाँद भी सितारों के बीच में है,पर चाँद का दर्द...

कुछ लोग मेरे शहर में( एडमिन द्वारा दिनाँक 04-02-2015 को प्रस्तुत )कुछ लोग मेरे शहर में खुशबु की तरह हैंमहसूस तो होते हैं दिखाई नहीं देते...। - तन्हाई शायरी

leaf-right
leaf-right