दर्द की दीवार पर -दर्द शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

दर्द की दीवार पर अपनी फरियाद लिखा करते है,ऐ खुदा उन्हें खुश रखना जिन्हें हम प्यार किया करते हैं।

दर्द शायरी

Related Post

भुला कर हमें क्या( अनूप चंद लकी द्वारा दिनाँक 12-03-2016 को प्रस्तुत )भुला कर हमें क्या वो खुश रह पाएंगे,साथ में नही तो मेरे जाने के बाद मुस्कुरायेंगे,दुआ है खुदा से की उन्हें कभी दर्द...

कब ठहरेगा दर्द ऐ दिल कब रात बसर होगी,सुनते थे कि वो आयेंगे सुनते थे सुबह होगी ।कब जान लहू होगी, कब अश्क गुहर होगा,किस दिन तेरी शुनवाई, ऐ दीद-ए-तर होगी। - दर्द शायरी

न कर तू इतनी कोशिशे,मेरे दर्द को समझने की,पहले इश्क़ कर,फिर चोट खा,फिर लिख दवा मेरे दर्द की। - दर्द शायरी

जब किसी का दर्द( राहुल अवस्थी द्वारा दिनाँक 17-09-2017 को प्रस्तुत )जब किसी का दर्द हद से गुजर जाता हैतो समंदर का पानी आँखों में उतर आता है,कोई बना लेता है रेत से आशियाना तो,किसी...

एक फ़साना सुन गए एक कह गए,हम जो रोये तो मुस्कुराकर रह गए। दर्द शायरी

दर्द हो तो कोई मौसम प्यारा नहीं होता,दिल में प्यास हो तो पानी से गुजारा नहीं होता,काश कोई समझ पाता हमारी बेबसी को,हम सबके हो जाते हैं कोई हमारा नहीं होता। दर्द शायरी

leaf-right
leaf-right