दिल में आप हो -याद शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

दिल में आप हो और कोई खास कैसे होगा,यादों में आपके सिवा कोई पास कैसे होगा,हिचकियॉं कहती हैं आप याद करते हो,पर बोलोगे नहीं तो मुझे एहसास कैसे होगा।

याद शायरी

Related Post

यह प्यार हमें किस मोड़ पर ले आया है,बेखुदी का आलम चारों तरफ छाया है,दिल को बहलाने किस तरफ ले जाएँ हम,यहाँ हर तरफ तेरी यादों का साया है। - याद शायरी

सिलसिला आज भी वही जारी है,तेरी याद, मेरी नींदों पर भारी है। - याद शायरी

तुझे रातों को इस कदर याद करता हूँ,जैसे कल इम्तिहान हो मेरा तेरी यादों का। - याद शायरी

मेरे दिल की मजबूरी को कोई इल्जाम न दे,मुझे याद रख बेशक मेरा नाम न ले,तेरा वहम है कि मैंने भुला दिया तुझे,मेरी एक भी साँस ऐसी नहीं जो तेरा नाम न ले। - याद...

बादलो से कह दो( प्रियंका शर्मा द्वारा दिनाँक 16-06-2015 को प्रस्तुत )बादलो से कह दोजरा सोच समझकर बरसे,अगर मुझे उसकी याद आ गयीतो मुकाबला बराबरी का होगा । - याद शायरी

यादों की ज़िन्दगी( एडमिन द्वारा दिनाँक 21-09-2018 को प्रस्तुत )दीमक ज़दा किताब थी यादों की ज़िन्दगी,हर वर्क खोलने की ख्वाहिश में फट गया। - याद शायरी

leaf-right
leaf-right