देर लगी आने में -इंतज़ार शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

देर लगी आने में तुमको,शुक्र है फिर भी आये तो,आस ने दिल का साथ न छोड़ा,वैसे हम घबराये तो।

इंतज़ार शायरी

Related Post

चले भी आओ तसव्वुर में( एडमिन द्वारा दिनाँक 14-06-2015 को प्रस्तुत )चले भी आओ तसव्वुर में मेहरबां बनकर,आज इंतज़ार तेरा, दिल को हद से ज्यादा है । - इंतज़ार शायरी

दिल जलाओ या दिए आँखों के दरवाज़े पर,वक़्त से पहले तो आते नहीं आने वाले। इंतज़ार शायरी

वो कह कर गया था कि लौटकर आऊँगा,मैं इंतजार ना करता तो क्या करता,वो झूठ भी बोल रहा था बड़े सलीके से,मैं एतबार ना करता तो क्या क्या करता। - इंतज़ार शायरी

तुम तारों की तरह रात भर चमकते रहे,हम चाँद की तरह तन्हा सफ़र करते रहे,तुम तो बीते वक़्त थे... तुम्हें आना न था,यूँ ही हम सारी रात करबटें बदलते रहे। - इंतज़ार शायरी

मेरी निगाह में फिर कोई दूसरा चेहरा नहीं आया,भरोसा ही कुछ ऐसा था तुम्हारे लौट आने का। - इंतज़ार शायरी

तेरे इंतजार में कब से उदास बैठे हैं,तेरे दीदार में आँखे बिछाये बैठे हैं,तू एक नज़र हम को देख ले बस,इस आस में कब से बेकरार बैठे हैं। इंतज़ार शायरी

leaf-right
leaf-right