नंबर नहीं देंगे – फनी शायरी

ये मोहब्बत नहीं,
उसूल-ए-वफ़ा है ऐ दोस्त,
हम जान तो दे देंगे जान का नंबर नहीं देंगे।

- फनी शायरी

Related Post

मेरी सांसो में जो समाया( एडमिन द्वारा दिनाँक 04-02-2015 को प्रस्तुत )मेरी सांसो में जो समाया बहुत लगता है,वही शख्स मुझे पराया भी बहुत लगता है,उनसे मिलने की तमन्ना तो बहुत है मगर,आने-जाने में किराया...

ऐ खुदा... हिचकियों में कुछ तो फर्क डाला होता...अब कैसे पता करूँ कि कौनसी वाली याद कर रही है. - फनी शायरी

ताज महल क्या चीज( विशाल चौहान द्वारा दिनाँक 12-06-2017 को प्रस्तुत )ताज महल क्या चीज है...हम इससे भी अच्छी इमारत बनवा देंगे,शाहजहां ने मुमताज़ को मुर्दा दफनाया था,हम तुझे ज़िंदा ही दफना देंगे। - फनी...

हम भी जान-ए-मन तेरे लिए ताजमहल बनायेंगे,अर्ज़ किया है,हम भी जान-ए-मन तेरे लिए ताजमहल बनायेंगे,एक कप सुबह पिलायेंगे और एक कप शाम को पिलायेंगे। फनी शायरी

अर्ज़ किया है - कि बहार आने से पहले खिज़ां आ गई,और फूल खिलने से पहले बकरी खा गई। फनी शायरी

गर्ल फ्रेंड २-4 होनी चाहिए - एक तो डायन भी थी। फनी शायरी

leaf-right
leaf-right