न संभलेगा दिल – दिल शायरी

आपको जाते हुए देख के न संभलेगा दिल,
उसको बातों में लगा लूँ तो चले जाईयेगा।

- दिल शायरी

Related Post

दिल तुम्हारा हो गया( एडमिन द्वारा दिनाँक 18-09-2016 को प्रस्तुत )हम ने सीने से लगाया दिल न अपना बन सका,मुस्कुरा कर तुम ने देखा दिल तुम्हारा हो गया। - दिल शायरी

ऐ दिल कोई बहाना( एडमिन द्वारा दिनाँक 16-11-2018 को प्रस्तुत )इजहार-ए-इश्क करूं या पूछ लूं तबियत उनकी,ऐ दिल कोई तो बहाना बता उनसे बात करने का। - दिल शायरी

दिलों के ज़ख्म भी( एडमिन द्वारा दिनाँक 01-11-2017 को प्रस्तुत )स्याह रात में जलते हैं जुगनुओं की तरह,दिलों के ज़ख्म भी दोस्तों कमाल होते हैं। - दिल शायरी

दिल टूटने से( एडमिन द्वारा दिनाँक 05-10-2017 को प्रस्तुत )दिल टूटने से थोड़ी सी तकलीफ़ तो हुई,लेकिन तमाम उम्र को आराम हो गया। - दिल शायरी

सौ बार कहा दिल( एडमिन द्वारा दिनाँक 04-07-2015 को प्रस्तुत )सौ बार कहा दिल से..चल भुल भी जा उसको ।हर बार कहा दिल ने..तुम दिल से नही कहते । - दिल शायरी

तमाम लोगों को अपनी अपनी मंजिल मिल चुकी,कमबख्त हमारा दिल है, कि अब भी सफर में है। दिल शायरी

leaf-right
leaf-right