प्यार का रोग -लव शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

तुम्हारे प्यार का रोग नहीं जाता कसम ले लो,गले में डाल कर मैंने सैकड़ों ताबीज़ देखे हैं।

लव शायरी

Related Post

तेरे अक्स को( रामजी लाल सैनी द्वारा दिनाँक 28-03-2018 को प्रस्तुत )तेरे अक्स को इंतज़ार में देखा है,चाहत का असर तेरे प्यार में देखा है,लोग मंदिर-मस्जिद में जिसे ढूँढ़ते हैं,उस खुदा को मैंने यार में...

तेरे रोज के वादों पे मर जायेंगे हम,यूँ ही गुजरी तो गुजर जायेंगे हम। - लव शायरी

नफरतों के जहान में हमकोप्यार की बस्तियां बसानी हैं,दूर रहना कोई कमाल नहीं,पास आओ तो कोई बात बने। - लव शायरी

दिल पे आए हुए इल्ज़ाम से पहचानते हैं,लोग अब मुझ को तेरे नाम से पहचानते हैं। - लव शायरी

हाल तो पूछ लूँ तेरा पर डरता हूँ आवाज़ से तेरी,जब जब सुनी है कमबख्त मोहब्बत ही हुई है । - लव शायरी

सितम को हम करम समझे,जफा को हम वफा समझे,जो इस पर भी न समझे वहतो उस बुत को खुदा समझे। - लव शायरी

leaf-right
leaf-right