बेवफाई ऐसे कर -बेवफा शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

तेरे इश्क़ ने दिया सुकून इतना,कि तेरे बाद कोई अच्छा न लगे,तुझे करनी है बेवफाई तो इस अदा से कर,कि तेरे बाद कोई बेवफ़ा न लगे।

बेवफा शायरी

Related Post

पहले इश्क फिर धोखा( Admin द्वारा दिनाँक 22-08-2015 को प्रस्तुत )पहले इश्क फिर धोखा फिर बेवफ़ाई,बड़ी तरकीब से एक शख्स ने तबाह किया । - बेवफा शायरी

कौन सी स्याही औरकौन सी कलम से लिखताहोगा - जब वो किसी के नसीबमें एक बेवफा लिखताहोगा। बेवफा शायरी

कैसे मिलेंगे हमें चाहने वाले बताइये,दुनिया खड़ी है राह में दीवार की तरह,वो बेवफ़ाई करके भी शर्मिंदा ना हुए,सजाएं मिली हमें गुनहगार की तरह। - बेवफा शायरी

बेवफा नहीं कहता( रफत जिगर द्वारा दिनाँक 01-09-2017 को प्रस्तुत )वो कहता है... कि मजबूरियां हैं बहुत...साफ लफ़्ज़ों में खुद को बेवफा नहीं कहता। - बेवफा शायरी

समेट कर ले जाओ( एडमिन द्वारा दिनाँक 15-09-2016 को प्रस्तुत )समेट कर ले जाओ अपने झूठे वादों के अधूरे क़िस्सेअगली मोहब्बत में तुम्हें फिर इनकी ज़रूरत पड़ेगी। - बेवफा शायरी

ये उनकी मोहब्बत का नया दौर है,जहाँ कल मैं था आज कोई और है। - बेवफा शायरी

leaf-right
leaf-right