मेरा भूलने वाला – याद शायरी

मेरे क़ाबू में न पहरों दिले-नाशाद आया,
वो मेरा भूलने वाला जो मुझे याद आया।

- याद शायरी

Related Post

अकेलेपन का इलाज़ होती हैं यादें,बहुत ही हसीन सी होती हैं यादें,यूँ तो बोलने को कुछ भी नहीं हैं,पर मानने को अपना ही साया हैं यादें। याद शायरी

उनकी यादों को मिटाना बहुत कठिन है,अपने गम को भूल जाना बहुत कठिन है,जब राहे-मयखानों पर चलते हैं कदम,होश में लौट कर आना बहुत कठिन है। - याद शायरी

बंद रखते हैं जुबान लब खोला नहीं करते,चाँद के सामने सितारे बोला नहीं करते,बहुत याद करते हैं हम आपको लेकिन,अपना ये राज़ होंठों से खोला नहीं करते। याद शायरी

रख लो दिल में संभाल करथोड़ी सी यादें हमारी,रह जाओगे जब तन्हा - बहुत काम आयेंगे हम। याद शायरी

आया ही था खयाल कि आँखें छलक पड़ीं,आँसू किसी की याद के कितने करीब हैं। याद शायरी

यादों की ज़िन्दगी( एडमिन द्वारा दिनाँक 21-09-2018 को प्रस्तुत )दीमक ज़दा किताब थी यादों की ज़िन्दगी,हर वर्क खोलने की ख्वाहिश में फट गया। - याद शायरी

leaf-right
leaf-right