मोहब्बत से ज्यादा -लव शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

तूने मोहब्बत, मोहब्बत से ज्यादा की थी, मैंने मोहब्बत तुझसे भी ज्यादा की थी, अब किसे कहोगे मोहब्बत की इन्तेहाँ, हमने शुरुआत ही इन्तेहाँ से ज्यादा की थी।

लव शायरी

Related Post

तूने मोहब्बत, मोहब्बत से ज्यादा की थी, मैंने मोहब्बत तुझसे भी ज्यादा की थी, अब किसे कहोगे मोहब्बत की इन्तेहाँ, हमने शुरुआत ही इन्तेहाँ से ज्यादा की थी। - लव शायरी

हर साँस में उनकी( विजय द्वारा दिनाँक 27-09-2016 को प्रस्तुत )हर साँस में उनकी याद होती है,मेरी आंखों को उनकी तलाश होती है,कितनी खूबसूरत है चीज ये मोहब्बत,कि दिल धड़कने में भी उनकी आवाज होती...

प्यार का बदला कभी( सुजीत गोंड द्वारा दिनाँक 08-09-2017 को प्रस्तुत )प्यार का बदला कभी चुका न सकेंगे,चाह कर भी आपको भुला न सकेंगे,तुम ही हो मेरे लबों की हँसी...तुमसे बिछड़े तो फिर मुस्कुरा न...

ज़िन्दगी से यही गिला है मुझे,तू बहुत देर से मिला है मुझे,तू मोहब्बत से कोई चाल तो चल,हार जाने का हौसला है मुझे। लव शायरी

ज़िंदगी बहुत ख़ूबसूरत है, सब कहते थे,जिस दिन तुझे देखा, यकीन भी हो गया। - लव शायरी

दिन रात हम वो हर काम लिख लेते हैं,तेरी याद में गुजरी हर शाम लिख लेते हैं,तुझे देखे बिना इक पल भी कटता नहीं,अकेले में हथेली पे तेरा नाम लिख लेते हैं। लव शायरी

leaf-right
leaf-right