याद करने का बहाना -याद शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

तेरे गम में भी नायाब खजाना ढूँढ लेते हैं,हम तुम्हें याद करने का बहाना ढूँढ लेते हैं।

याद शायरी

Related Post

तुझे भुला दिया फिर( अमान द्वारा दिनाँक 07-10-2016 को प्रस्तुत )मैंने तो तुझे भुला दिया फिरक्यों तेरी यादों ने मुझे रुला दिया। - याद शायरी

अहसास मिटा,तलाश मिटी,मिट गई उम्मीदें भी,सब मिट गया पर,जो न मिट सकावो है यादें तेरी। - याद शायरी

तेरे नाम से मुहब्बत( एडमिन द्वारा दिनाँक 12-10-2015 को प्रस्तुत )तेरे नाम से मुहब्बत की है, तेरे एहसास से मुहब्बत की है,तू मेरे पास नही फिर भी, तेरे याद से मुहब्बत की है । -...

मुझे नींद की इजाज़त भीउनकी यादों से लेनी पड़ती है,जो खुद आराम से सोये हैंमुझे करबटों में छोड़ कर। - याद शायरी

याद उस लम्हे की( रोबिन द्वारा दिनाँक 22-04-2017 को प्रस्तुत )याद जब उस लम्हे की जेहन में आती है,मोहब्बत दिल में कसक बनकर उभर आती है। - याद शायरी

तुझे रातों को इस कदर याद करता हूँ,जैसे कल इम्तिहान हो मेरा तेरी यादों का। याद शायरी

leaf-right
leaf-right