याद करने की बीमारी -याद शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

खामोशी और तन्हाई हमें प्यारी हो गई है,आजकल रातों से यारी हो गई है,सारी सारी रात तुम्हें याद करते हैं,शायद तुम्हें याद करने की बीमारी हो गई है।

याद शायरी

Related Post

जब से तेरी चाहत( एडमिन द्वारा दिनाँक 03-06-2016 को प्रस्तुत )जब से तेरी चाहत अपनी ज़िन्दगी बना ली है,हम ने उदास रहने की आदत बना ली है,हर दिन हर रात गुजरती है तेरी याद में,तेरी...

हर रात एक नाम( संदीप तिवारी द्वारा दिनाँक 21-04-2015 को प्रस्तुत )हर रात एक नाम याद आता है,कभी सुबह कभी शाम याद आता है,जब सोचते हैं कर लें दूसरी मोहब्बत,तब पहली मोहब्बत का अंजाम याद...

हमको अपना समझो( मनीष कुमार द्वारा दिनाँक 17-08-2016 को प्रस्तुत )दिल को दिल समझो तो इश्क़ करोवादे को वादा समझो तो पूरा करो,और हमको अपना समझो तो प्यार करो.I miss you - याद शायरी

रोते उनकी याद में( राहुल द्वारा दिनाँक 16-05-2017 को प्रस्तुत )जख्म ऐसा दिया कोई दवा काम न आयी,आग ऐसी लगी की पानी से भी बुझ न पायी,आज भी रोते हैं उनकी याद में...जिन्हें हमारी याद...

कल बस यादें होंगी( पंकज कुमार द्वारा दिनाँक 11-07-2015 को प्रस्तुत )आज ये पल है, कल बस यादें होंगी,जब ये पल ना होंगे, तब सिर्फ बातें होंगी,जब पलटोगे जिंदगी के पन्नों को,तो कुछ पन्नों पर...

मेरी चाहत में कोई कमी तो नहीं है,फिर क्यों वो बार-बार आज़माए मुझे,दिल उसकी याद से एक पल भी नहीं जुदा,फिर कैसे मुमकिन है वो भूल जाए मुझे। याद शायरी

leaf-right
leaf-right