यार पहलू में – रोमांटिक शायरी

यार पहलू में है,
तन्हाई है,
कह दो निकले,
आज क्यूँ दिल में छुपी बैठी है हसरत मेरी।

- रोमांटिक शायरी

Related Post

संगमरमर के महल में तेरी तस्वीर सजाऊंगा,अपने इस दिल में तेरे ही ख्वाब जगाऊंगा,यूँ एक बार आजमा के देख तेरे दिल में बस जाऊंगा,मैं तो प्यार का हूँ प्यासा तेरे आगोश में मर जाऊॅंगा। -...

यार पहलू में है, तन्हाई है, कह दो निकले,आज क्यूँ दिल में छुपी बैठी है हसरत मेरी। रोमांटिक शायरी

खुशबू की तरह( जमील अख्तर द्वारा दिनाँक 11-05-2017 को प्रस्तुत )खुशबू की तरह आसपास बिखर जायेंगे,सुकून बनकर दिल में उतर जायेंगे,महसूस करने की कोशिश कीजिये,दूर होकर भी आपके पास नजर आएंगे। - रोमांटिक शायरी

तुझे मैं पास बिठाकर( एडमिन द्वारा दिनाँक 03-06-2016 को प्रस्तुत )जी चाहे की दुनिया की हर एक फ़िक्र भुला कर,दिल की बातें सुनाऊं तुझे मैं पास बिठाकर। - रोमांटिक शायरी

जब यार मेरा हो पास मेरे,मैं क्यूँ न हद से गुजर जाऊँ,जिस्म बना लूँ उसे मैं अपना,या रूह मैं उसकी बन जाऊँ। रोमांटिक शायरी

प्यार भरी निगाह शायरी( प्रीत द्वारा दिनाँक 16-12-2015 को प्रस्तुत )तुम्हारी प्यार भरी निगाहों को देखकरहमें कुछ ऐसा गुमान होता है,देखो ना मुझे इस कदर मदहोश नज़रों सेकि दिल बेईमान होता है। - रोमांटिक शायरी

leaf-right
leaf-right