रात की आवाज़ – याद शायरी – याद शायरी

  • By Admin

  • February 27, 2022

रात की आवाज़

दिल को छू जाती है यूँ रात की आवाज़ कभी,
चौंक उठते हैं कहीं तूने पुकारा ही न हो।

- याद शायरी

Related Post

दिल की हालत बताई नहीं जाती,हमसे उनकी चाहत छुपाई नहीं जाती,बस एक याद बची है उनके जाने के बाद,वो याद भी दिल से निकाली नहीं जाती। याद शायरी

तेरी यादें हर रोज़( एडमिन द्वारा दिनाँक 18-11-2015 को प्रस्तुत )तेरी यादें हर रोज़ आ जाती हैं मेरे पास,लगता है तुमने बेवफ़ाई नहीं सिखाई इनको।--------------------------------------शिकायत करूँ तो किससे करूँ, ये तो क़िस्मत की बात है,तेरी...

दोस्तों ये यादें भी बहुत ही जालिम चीज़ होती है,कभी ये हंसाती हैं ख़ुशियों के पलों के साथ।कभी ये रुलाती हैं गम की बातो के साथ। - याद शायरी

कोई चला गया दूर तो क्या करें,कोई मिटा गया सब निशान तो क्या करें,याद आती है उनकी हमें हद से ज्यादा,मगर वो याद ना करें तो क्या करें - । याद शायरी

तेरी यादों का साया( एडमिन द्वारा दिनाँक 02-07-2019 को प्रस्तुत )यह प्यार हमें किस मोड़ पर ले आया है,बेखुदी का आलम चारों तरफ छाया है,दिल को बहलाने किस तरफ ले जाएँ हम,यहाँ हर तरफ तेरी...

वही आलम पुराना( एडमिन द्वारा दिनाँक 23-01-2018 को प्रस्तुत )नया कुछ भी नहीं हमदम वही आलम पुराना है,तुम्हें भुलाने की कोशिश है तुम्हीं को याद आना है। - याद शायरी

leaf-right
leaf-right