लम्हे नही टूटा करते -दो लाइन शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

हाथ छुटे भी तो रिश्ते नही छोड़ा करते,वक्त की शाख से लम्हे नही टूटा करते l

दो लाइन शायरी

Related Post

वो ज़िन्दगी क्या है( एडमिन द्वारा दिनाँक 27-12-2018 को प्रस्तुत )किसी के काम न जो आए वो आदमी क्या है,जो अपनी फिक्र में गुजरे वो ज़िन्दगी क्या है। - दो लाइन शायरी

नजर अंदाजी का हुनर( प्रीत द्वारा दिनाँक 02-01-2016 को प्रस्तुत )दाद देते हैं तुम्हारे नजर-अंदाज करने के हुनर कोजिसने भी सिखाया वो उस्ताद कमाल का होगा। - दो लाइन शायरी

लग जाए जमाने की हवाजाने कब उसको, - दो लाइन शायरी

खुदा तो इक तरफ, खुद से भी कोसों दूर होता है,इंसान जिस वक्त ताकत के नशे में चूर होता है। दो लाइन शायरी

हैरत से न देख( एडमिन द्वारा दिनाँक 07-12-2017 को प्रस्तुत )हैरत से न देख मेरे चेहरे की दरारें,मैं वक़्त के हाथों में खिलौने की तरह था। - दो लाइन शायरी

सिसकियाँ लेता है वजूद मेरा गालिब,नोंच नोंच कर खा गई तेरी याद मुझे।-------------------------------------- इश्क़ पर ज़ोर नहीं है ये वो आतिश ग़ालिब,कि लगाए न लगे और बुझाए न बने।-------------------------------------- बोसा देते नहीं और दिल पे...

leaf-right
leaf-right