वो नाम जो मेरे होंठों पर – लव शायरी

अब किससे कहें और कौन सुने जो हाल तुम्हारे बाद हुआ,
इस दिल की झील सी आँखों में एक ख़्वाब बहुत बर्बाद हुआ,
यह हिज्र-हवा भी दुश्मन है उस नाम के सारे रंगों की,
वो नाम जो मेरे होंठों पर खुशबू की तरह आबाद हुआ।

- लव शायरी

Related Post

बेवक्त बेवजह बेसबब सी बेरुखी तेरी, फिर भी बेइंतहा तुझे चाहने की बेबसी मेरी। - लव शायरी

महसूस की तेरी जरूरत( एडमिन द्वारा दिनाँक 05-10-2019 को प्रस्तुत )ऐ दोस्त हमने तर्क-ए-मोहब्बत के बावजूद,महसूस की है तेरी जरूरत कभी-कभी।~ नासिर काज़मी - लव शायरी

जोश-ए-जुनूँ में लुत्फ़-ए-तसव्वुर न पूछिए,फिरते हैं साथ साथ उन्हें हम लिए हुए। - लव शायरी

अमल से भी माँगा वफ़ा से भी माँगा,तुझे मैंने तेरी रज़ा से भी माँगा,न कुछ हो सका तो दुआ से भी माँगा,कसम है खुदा की खुदा से भी माँगा। लव शायरी

मैं चाहता हूँ मैं तेरी हर साँस में मिलूँ,परछाईयों में, धूप में, बरसात में मिलूँ। - लव शायरी

दिल से प्यार( सत्यम कुमार द्वारा दिनाँक 30-05-2018 को प्रस्तुत )ऊपर से गुस्सा दिल से प्यार करते हो,नज़रें चुराते हो दिल बेक़रार करते हो,लाख़ छुपाओ दुनिया से मुझको ख़बर है,तुम मुझे ख़ुद से भी ज्यादा...

leaf-right
leaf-right