वो पुराने दोस्त -दोस्ती शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

शायद फिर हमें वो तकदीर मिल जाये,जीवन के वो हसीं पल फिर मिल जाये,चल फिर से बैठें क्लास की लास्ट बैंच पे,शायद फिर से वो पुराने दोस्त मिल जाएँ।

दोस्ती शायरी

Related Post

खुशी आपके लिए गम हमारे लिए,जिंदगी आपके लिए मौत हमारे लिए,हँसी आपके लिए रोना हमारे लिए,सबकुछ आपके लिए आप हमारे लिए। दोस्ती शायरी

वो पुराने दोस्त( तुषार सोनी द्वारा दिनाँक 22-12-2016 को प्रस्तुत )शायद फिर हमें वो तकदीर मिल जाये,जीवन के वो हसीं पल फिर मिल जाये,चल फिर से बैठें क्लास की लास्ट बैंच पे,शायद फिर से वो...

हम दोस्त बनाकर किसी को( एडमिन द्वारा दिनाँक 15-06-2015 को प्रस्तुत )हम दोस्त बनाकर किसी को रुलाते नही,दिल में बसाकर किसी को भुलाते नही,हम तो दोस्त के लिए जान भी दे सकते हैं,पर लोग सोचते...

सबसे अलग सबसे न्यारे हो आप,तारीफ कभी पुरी ना हो इतने प्यारे हो आप। दोस्ती शायरी

हँसी माँग लेना( विजय धीमान द्वारा दिनाँक 31-05-2018 को प्रस्तुत )उदास हो जाओ तो मेरी हँसी माँग लेना,अगर ग़म हों तो मेरी ख़ुशी माँग लेना,रब आपको लम्बी उम्र दे जीने के लिए,एक पल भी कम...

साथ निभाने का वादा( रामकेशव तिवारी द्वारा दिनाँक 02-05-2017 को प्रस्तुत )दिल से दिल का गहरा रिश्ता है हमारा,दिल की हर धड़कन पर नाम है तुम्हारा,अगर हम आपके साथ नहीं तो क्या हुआ,जिंदगी भर साथ...

leaf-right
leaf-right