वो याद करते हैं -याद शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

तड़पते हैं, न रोते हैं, न हम फ़रियाद करते हैं,सनम की याद में हरदम खुदा को याद करते हैं,उन्हीं के इश्क़ में हम दर्द की फरियाद करते हैं,अब देखते हैं किस दिन हमें वो याद करते हैं।

याद शायरी

Related Post

बड़ी तब्दीलियां लाया हूँमैं अपने आप में लेकिन, याद शायरी

तेरी यादें हर रोज़( एडमिन द्वारा दिनाँक 18-11-2015 को प्रस्तुत )तेरी यादें हर रोज़ आ जाती हैं मेरे पास,लगता है तुमने बेवफ़ाई नहीं सिखाई इनको।--------------------------------------शिकायत करूँ तो किससे करूँ, ये तो क़िस्मत की बात है,तेरी...

याद करने का बहाना( एडमिन द्वारा दिनाँक 20-07-2017 को प्रस्तुत )तेरे गम में भी नायाब खजाना ढूँढ लेते हैं,हम तुम्हें याद करने का बहाना ढूँढ लेते हैं। - याद शायरी

याद करके रोये( एडमिन द्वारा दिनाँक 14-11-2017 को प्रस्तुत )तेरे पास से जो गुजरे तो बेखुदी में थे हम,कुछ दूर जाके संभले तुझे याद करके रोये। - याद शायरी

मुझे मार ही न डाले ये बादलों की साजिश,ये जब से बरस रहे हैं मुझे तुम याद आ रहे हो। याद शायरी

जब तक जान है बस याद तुम्हारी आयेगी,आकर हर खुशी में मेरे दिल को रुलाएगी। याद शायरी

leaf-right
leaf-right