वो ज़िन्दगी क्या है – दो लाइन शायरी – दो लाइन शायरी

  • By Admin

  • February 27, 2022

वो ज़िन्दगी क्या है

किसी के काम न जो आए वो आदमी क्या है,
जो अपनी फिक्र में गुजरे वो ज़िन्दगी क्या है।

- दो लाइन शायरी

Related Post

दौड़ती भागती दुनिया का यही तोहफा है,खूब लुटाते रहे अपनापन फिर भी लोग खफ़ा हैं। - दो लाइन शायरी

सरे बाज़ार निकलूं तोआवारगी की तोहमत,तन्हाई में बैठूं तोइलज़ाम-ऐ-मुहब्बत । दो लाइन शायरी

तुम फिर उसी अदा सेअंगड़ाई ले के हँस दो, - दो लाइन शायरी

दाद देते हैं तुम्हारे नजर-अंदाज करने के हुनर कोजिसने भी सिखाया वो उस्ताद कमाल का होगा। - दो लाइन शायरी

शायरों से ताल्लुक रखो, तबियत ठीक रहेगी,ये वो हक़ीम हैं, जो अल्फ़ाज़ों से इलाज करते हैं। दो लाइन शायरी

तेरी तलाश में निकलू भीतो क्या फायदा... - दो लाइन शायरी

leaf-right
leaf-right