शिकायत नहीं ऐ जिदंगी -जिंदगी शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

तुझसे कोई शिकायत नहीं है ऐ जिदंगीजो भी दिया है वही बहुत है।

जिंदगी शायरी

Related Post

आहिस्ता चल ऐ ज़िंदगीकुछ क़र्ज़ चुकाने बाकी हैं,कुछ दर्द मिटाने बाकी हैंकुछ फ़र्ज़ निभाने बाकी हैं। जिंदगी शायरी

चाहा है तुझको तेरे तगाफुल के बावजूद,ऐ ज़िन्दगी तू भी याद करेगी कभी हमें। जिंदगी शायरी

जिंदगी भी तवायफ की तरह होती है,कभी मज़बूरी में नाचती है कभी मशहूरी में । जिंदगी शायरी

कभी धूप दे( एडमिन द्वारा दिनाँक 23-04-2017 को प्रस्तुत )कभी धूप दे... कभी बदलियाँ,दिलो जान से दोनों क़बूल हैं,मगर उस नगर में न कैद कर,जहाँ जिंदगी की हवा न हो। - जिंदगी शायरी

क्या बेचकर हम खरीदें फुर्सत - ऐ जिंदगी,सब कुछ तो गिरवी पड़ा है जिम्मेदारी के बाजार में। जिंदगी शायरी

ये हुनर भी( एडमिन द्वारा दिनाँक 25-11-2016 को प्रस्तुत )जिंदगी में ये हुनर भी आजमाना चाहिए,अपनों से हो जंग तो हार जाना चाहिए। - जिंदगी शायरी

leaf-right
leaf-right