साँस थम जाती है -याद शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

साँस थम जाती है पर जान नहीं जाती,दर्द होता है पर आवाज़ नहीं आती,अजीब लोग हैं इस ज़माने में ऐ दोस्त,कोई भूल नहीं पाता - और किसी को याद नहीं आती।

याद शायरी

Related Post

वो वक़्त वो लम्हे कुछ अजीब होंगे,दुनिया में हम सबसे खुशनसीब होंगे,दूर से जब इतना याद करते हैं आपको,क्या होगा जब आप हमारे करीब होंगे. याद शायरी

मेरे क़ाबू में न पहरों दिले-नाशाद आया,वो मेरा भूलने वाला जो मुझे याद आया। - याद शायरी

बरसों हुए न तुम ने किया भूल कर भी याद,वादे की तरह हम भी फ़रामोश हो गए। - याद शायरी

अकेलेपन का इलाज़ होती हैं यादें,बहुत ही हसीन सी होती हैं यादें,यूँ तो बोलने को कुछ भी नहीं हैं,पर मानने को अपना ही साया हैं यादें। याद शायरी

दोस्तों ये यादें भी बहुत ही जालिम चीज़ होती है,कभी ये हंसाती हैं ख़ुशियों के पलों के साथ।कभी ये रुलाती हैं गम की बातो के साथ। - याद शायरी

थक गया है दिल( एडमिन द्वारा दिनाँक 10-10-2016 को प्रस्तुत )थक गया है दिल-ए-वहशी मेरा फ़रियाद से भी,जी बहलता नहीं ऐ सनम तेरी याद से भी। - याद शायरी

leaf-right
leaf-right