सोचा नहीं अच्छा बुरा – लव शायरी

सोचा नहीं अच्छा बुरा,
देखा सुना कुछ भी नहीं,
माँगा ख़ुदा से हर वक़्त तेरे सिवा कुछ भी नहीं,
जिस पर हमारी आँख ने,
मोती बिछाये रात भर,
भेजा वही कागज़ उसे,
हमने लिखा कुछ भी नहीं।

- लव शायरी

Related Post

कोई कहता है प्यार नशा बन जाता है,कोई कहता है प्यार सज़ा बन जाता है,पर प्यार करो अगर सच्चे दिल से,तो प्यार जीने की वजह बन जाता है। लव शायरी

मोहब्बत की चमक( दीपक कुमार द्वारा दिनाँक 15-02-2018 को प्रस्तुत )मेरी आँखों में मोहब्बत की चमक आज भी है,फिर भी मेरे प्यार पर उसको शक आज भी है,नाव में बैठ कर धोये थे उसने हाथ...

क्यूँ किसी से इतना प्यार हो जाता है,एक दिन का भी इंतजार दुश्वार हो जाता है,लगने लगते है अपने भी पराए,जब एक अजनबी पर ऐतबार हो जाता है। - लव शायरी

हमारी ऑख से गिरता( एडमिन द्वारा दिनाँक 16-06-2015 को प्रस्तुत )हमारी ऑख से गिरता,जो तेरे प्यार का मोती,उसे होठों से चुन लेती,अगर तुम सामने होती ।अगर आती बुलाने पे,हर एक राधा किशन के तो,मुहब्बत इस...

नहीं जो दिल में जगह तो नजर में रहने दो,मेरी हयात को तुम अपने असर में रहने दो,मैं अपनी सोच को तेरी गली में छोड़ आया हूँ,मेरे वजूद को ख़्वाबों के घर में रहने दो।...

कह देना चाँद उनसे वो हमें बेवफ़ा न समझे,आँखों से दूर हैं मगर दिल से जुदा न समझे,भरा है दिल मोहब्बत से मगर मजबूर रहते हैं,मोहब्बत कम न कर देना कि इतनी दूर रहते हैं।...

leaf-right
leaf-right