हर एक पहलू तेरा -अरमान शायरी

  • By Admin

  • October 31, 2021

हर एक पहलू तेरा मेरे दिल में आबाद हो जाये, तुझे मैं इस क़दर देखूं मुझे तू याद हो जाये - ।।

अरमान शायरी

Related Post

छोटे छोटे सपने( वीणा द्वारा दिनाँक 16-10-2016 को प्रस्तुत )छोटे छोटे सपने हैं मेरे, छोटी सी आशा,पूरी दुनिया पर हुकूमत हो मेरी बस इतनी सी अभिलाषा। - अरमान शायरी

होते अगर पास तो कोई शरारत करते,लेकर तुम्हें बाहों में मोहब्बत करते,देखते तेरी आँखों में नींद का खुमार,अपनी खोयी हुई नींदों की शिकायत करते। - अरमान शायरी

मैं कुछ लम्हा और तेरा( एडमिन द्वारा दिनाँक 14-06-2015 को प्रस्तुत )मैं कुछ लम्हा और तेरा साथ चाहता था,आँखों में जो जम गयी वो बरसात चाहता था,सुना हैं मुझे बहुत चाहती है वो मगर,मैं उसकी...

दो हिस्सो में बंट गये( एडमिन द्वारा दिनाँक 14-06-2015 को प्रस्तुत )दो हिस्सो में बंट गयेमेरे तमाम अरमान...कुछ तुझे पाने निकले,कुछ मुझे समझाने निकले। - अरमान शायरी

शाम के बाद सुबह( माधुसिंह राजपुत द्वारा दिनाँक 02-02-2016 को प्रस्तुत )शाम के बाद सुबह आती हैदेख लेना अपनी आँखों से,दिल की बात एक दिन होठों पे आएगी,सुन लीजियेगा अपने कानों से। - अरमान शायरी

जिस चीज़ पे तू हाथ रख दे वो चीज़ तेरी हो,और जिस से तू प्यार करे, वो तक़दीर मेरी हो। - अरमान शायरी

leaf-right
leaf-right