blog

2 Line Desh Bhakt Shayari for 15 August – Indian Army Shayari

जशन आज़ादी का मुबारक हो देश वालो को, फंदे से मोहब्बत थी हम वतन के मतवालो को…

Related Post

थोडा इंतजार तो कर लेते.. वक्त ही तो खराब था दिल थोडी था। काश तेरी यादों में एक ऎसा मोड आ जाये, जहाँ में आँखे बन्द करु और मुझे नींद आ जाये। तेरे खामोश होठों...

ना जाने कैसा रिश्ता है इस दिल का तुझसे.. धड़कना भूल सकता है पर तेरा नाम नही​। ​​हमारी आरजूओं ने हमें इंसान बना डाला​, ​वरना जब जहां में आये थे बन्दे ​​​थे खुदा के​। रूठा...

कीमती हैं सिक्के, ईमान सस्ता है, यहां रिश्तों का मतलब ही, मतलब का रिश्ता है। शोर करते रहो तुम सुर्ख़ियों में आने का, हमारी तो खामोशियाँ भी एक अखबार हैं। थक सी जाती है ज़िन्दगी.....

मेरे बाद अगर किसी को मुझ जैसा पाओ, तो मेरे बाद किसी के साथ मुझ जैसा मत करना। सोचते हैं जान अपनी उसे मुफ्त ही दे दें, इतने मासूम खरीदार से क्या लेना देना। धूप...

दीवाना उस ने कर दिया एक बार देख कर, हम कर सके न कुछ भी लगातार देख कर। वो जिसकी याद मे हमने खर्च दी जिन्दगी अपनी, वो शख्श आज मुझको गैर कह के चला...

सोच रहा हूँ कुछ ऐसा लिखू की वो.. पढ़ के रोये भी ना और रातभर सोये भी ना। रुला के जो माना ले वो सच्चा यार है, ओर जो रुला के खुद आँसू भाए वो सच्चा...

leaf-right
leaf-right