2 Line Shayari Tera Pyar Bhi – 2 Line Shayari

तेरा प्यार भी एक हजार की नोट जैसा है,
डर लगता है कहीं नकली तो नहीं|


आज इतना जहर पिला दो कि सांस तक रुक जाए मेरी,
सुना है कि सांस रुक जाए तो रूठे हुये भी देखने आते है…!


क्यूँ शर्मिंदा करते हो रोज, हाल हमारा पूँछ कर ,
हाल हमारा वही है जो तुमने बना रखा हैं…


उम्र गुजार दी मैने गमो के कारोबार मे ।
खुदा जाने सुकून बिकता कहा है?


सुकून ऐ दिल के लिए कभी हाल तो पूँछ ही लिया करो,
मालूम तो हमें भी है कि हम आपके कुछ नहीं लगते…!


तुम्हारे खयालो में चलते चलते कही फिसल ना जाऊ मैं,
अपनी यादों को रोक, की मेरे शहर में बारिश का मौसम है..


कुछ रीश्ते ‘रब’ बनाता हे कुछ रीश्ते ‘लोग’ बनाते हे
पर कुछ् लोग बीना कीसी रीश्ते के रीश्ते नीभाते हे, शायद वही ‘दोस्त’ कहेलाते हे|


मुहब्बत में यही खौफ क्यों हरदम रहता है…
कही मेरे सिवा किसी और से तो मुहब्बत नहीं उसे…


खुदा का शुक्र है की ख्वाब बना दिये,
वरना तुम्हे देखने की तो हसरत ही रह जाती।


मुझे रुला कर सोना तो तेरी आदत बन गई है,
जिस दिन मेरी आँख ना खुली तुझे निंद से नफरत हो जायेगी|

- 2 Line Shayari

Related Post

बस यही दो मसले जिंदगी भर ना हल हुए, ना नींद पूरी हुई ना ख्वाब मुकम्मल हुए! ? हमारी पसंद अपनी, निगाह से न तोलिये.. यह दिल के मामले हैं, इनमें न बोलिये! ये कैसा...

वो कतरा-कतरा मुझे तबाह करते गये, हम रेशा-रेशा उनपे निसार होते गए। बदल जाती है ज़िंदगी की हक़ीक़त, जब तुम मुस्कुराकर कहते हो तुम बहुत प्यारे हो। सुनो! मुख़्तलिफ़ है इश्क़ का गणित, यहाँ तुम...

कुछ जख्म ऐसे हैं कि दिखते नहीं, मगर ये मत समझिये कि दुखते नहीं। ? घर में रहा था कौन कि रुखसत करे हमें, चौखट को अलविदा कहा और चल पड़े। खरीद पाऊँ खुशियाँ उदास...

ये आशिको का ग्रुप है जनाब.. यहाँ दिन सुरज से नही दीदार से हुआ करते है। न कोई वादा न कोई यक़ीं न कोई उम्मीद, मगर हमें तो तेरा इंतज़ार करना था। उम्र कैद की...

बुरे हे हम तभी तो जी रहे हे.. अच्छे होते तो दुनिया जीने नही देती। बहुत देता है तू उसकी गवाहियाँ और उसकी सफाईयाँ, समझ नहीं आता तू मेरा दिल है या उसका वकील..।। दिल...

रोने की वजह न थी हसने का बहाना न था क्यो हो गए हम इतने बडे इससे अच्छा तो वो बचपन का जमाना था! किसी ने कहा था महोब्बत फूल जैसी है!! कदम रुक गये...

leaf-right
leaf-right