Dard Shayari Dil Ka Her Raaz De Diya – Dard Shayari

दिल का हर राज दे दिया उनको मैहरबान समझ कर,
लगाया मौत को गले से हमने,उनका फरमान समझ,कर ,
वो नादान क्या जाने मेरी दीवानगी कि हद को,
कि हर सितम को सहा है हमने उसका अहसान समझकर|

- Dard Shayari

Related Post

कुछ लोग कहते है की बदल गया हूँ मैं, उनको ये नहीं पता की संभल गया हूँ मैं, उदासी आज भी मेरे चेहरे से झलकती है, पर.. अब दर्द में भी मुस्कुराना सीख गया हूँ...

Is kadar hum yaar ko manaane nikle, Uski chahat ke hum deewaane nikle, Jab bhi usey dil ka haal batana chaha, Toh uske hothon se waqt na hone ke bahaane nikle. - Dard Shayari

Chand Utra Tha Hamare Aangan Mein, Ye Sitaro Ko Gwara Na Huaa, Hum Bhi Sitaro Se Kaise Gila Kare, Jab Chand Hi Hamara Na Huaa. - Dard Shayari

वफ़ा का दरिया कभी रुकता नही, इश्क़ में प्रेमी कभी झुकता नही, खामोश हैं हम किसी के खुशी के लिए, ना सोचो के हमारा दिल दुःखता नहीं| - Dard Shayari

एक अरसा बीत गया..खुलकर मुस्कुराए हुए.. एक अरसा बीत गया..गीत कोई गाए हुए.. मेरी नज़रों को तेरा इन्तज़ार आज भी है.. एक अरसा बीत गया..कोई रिश्ता नया बनाए हुए.. - Dard Shayari

Pyar Mein Milne Ki Zaroorat Hoti Hai, Naa Milon To Phir Shikayat Hoti Hai, Khamosh Rahe Lab Naa Bole Beshaq, Lekin Aankhon Mein Mohabbat Hoti Hai, Rakh Lo Chaahen Sau Pardon Mein Ishq, Zamaane Mein...

leaf-right
leaf-right