Hindi Shayari Collection Khamoshi Bahut Kuch Kehti Hai – 2 Line Shayari

ख़ामोशी बहुत कुछ कहती हे,
कान लगाकर नहीं, दिल लगाकर सुनो।


मुझे सिर्फ दो चीजों से डर लगता है,
1 तेरे रोने से और 2 तुझे खोने से।


मुझसे इश्क, मुहब्बत, प्यार न कर,
अपनी ज़िन्दगी को तू बेकार न कर।


नाराज़गी तो यहा हर किसी में भरी है,
मेरे दिल को ही देख लो अपना होकर भी नाराज है।


हर किसी पर दोस्तों ऐतबार मत करना,
धोखेबाजों के लिए ज़िन्दगी बर्बाद मत करना।

- 2 Line Shayari

Related Post

में तो आशिक़ हु सिर्फ एक बार मरूँगा, लेकिन मेरे ‎प्यार‬ की सच्चाई जानकर वो बार बार मरेंगी। इंतेजार भी कितनी अजीब चीज हे ना खुद करे तो, गुस्सा आता है, और.. दूसरा कोई करे...

आज फिर.. उतनी ही मोहब्बत से बुलाओ ना.. कह दो.. मिलने का मन कर रहा है.. आओ ना। दीवाना दौड़ के कोई लिपट न जाये, आंखों में आंखें डालकर देखा न कीजिए। देखा किये वह...

अब इतना भी खूब ना लिखा करो यारो, आप सबके अल्फ़ाज़ों से इश्क़ सा होने लगा है। क्या मुझे तेरी बाहों में पनाह मिल सकती है, मुझे अपनी जिंदगी की आखिरी सांस लेनी है। बडी...

Ye dil bura hi sahi par sare bazar to na kaho, Aakhir tumne bhi isme kuchh din gujare hai. ? ये दिल बुरा ही सही पर सरे बाज़ार तो ना कहो, आखिर तुमने भी इसमें...

मेरी कब्र के पास Wi-Fi जरूर लगाना, क्योंकि मेरे दोस्त.. इतने कमीने है कि Wi-Fi यूज करने के लिए, जरूर मेरे पास आएगे। तेरी कमर पर हाथ रक्खा था.. नियत का फिसल कर नीचे सरकना...

दीवाना उस ने कर दिया एक बार देख कर, हम कर सके न कुछ भी लगातार देख कर। दिखने में वो बहुत गरीब थी साहब पर.. उसकी हँसी किसी शहजादी से कम नहीं थी। सुबह...

leaf-right
leaf-right