Hindi Shayari Phool Iseliye Achhe – Hindi Shayari

फूल इसलिये अच्छे कि खुश्बू का पैगाम देते हैं..
कांटे इसलिये अच्छे किदामन थाम लेते हैं..
दोस्त इसलिये अच्छे कि वो मुझ पर जान देते हैं..
और दुश्मनों को मैं कैसे खराब कह दूं..
वो ही तो हैं जो हर महफिल में मेरा नाम लेते हैं..

- Hindi Shayari

Related Post

Kabi Kisi Ko Inta Yaad Mat Karo, K Phir Bhoola Na Sako… Kabi Kisi Ko Inta Pyar Na Karo, K Phir Nafraat Na Kar Sako… Kabi Kisi Ko Apne Itne Karib Na Hone Do, K...

Na ji bhar k daikha na kuch baat ki, Bari aarzoo thi mulaqat ki. Muje ye dar hai teri arzu na mit jaye, Bahut dinon se tabyat meri udas nahin. Kuch to mere pandar e...

Raat jab kissi ki yaad sataye, Hawa jab baalon ko sehlaaye, Kar lo aankhe band aur so jao, Kya pata jiss ka hai khayal, Wo khawabo me aa jaaye, ”G o o d N i...

जो मस्ती आंखों में है वो मदिरालय में नहीं, अमीरी दिल की कोई महालय में नहीं, शीतलता पाने के लिए कहा फिरता है मानव, जो माँ की गोद में है वो तो हिमालय में नहीं...

Maa-Baap ko kabhi na chor ke jana dosto, Rukh badalte dekha hai humne hawaon ka, Zindagi bhar koi saath nahi deta, Asar rehta hai toh bas Maa-Baap ki duaon ka. - Hindi Shayari

यूँ ना बर्बाद कर मुझे, अब तो बाज़ आ दिल दुखाने से.. मै तो सिर्फ इन्सान हूँ, पत्थर भी टूट जाता है, इतना आजमाने से। कभी तुम पूछ लेना, कभी हम भी ज़िक्र कर लेगें.....

leaf-right
leaf-right