Shayeri – Munawwar Rana

शायरी कुछ भी हो रुसवा नहीं होने देती
मैं सियासत में चला जाऊं तो नंगा हो जाऊँ

By quotesbogie

Popular Pages