याद शायरी

तेरी याद सुलगती है – याद शायरी

जब रात की तन्हाई दिल बन के धड़कती है,यादों के झरोंखों में चिलमन सी सरकती है,लोबान में चिंगारी जैसे कोई रख जाए,यूं याद तेरी शब भर सीने में सुलगती है।
– याद शायरी

वो याद करते हैं – याद शायरी

तड़पते हैं, न रोते हैं, न हम फ़रियाद करते हैं,सनम की याद में हरदम खुदा को याद करते हैं,उन्हीं के इश्क़ में हम दर्द की फरियाद करते हैं,अब देखते हैं किस दिन हमें वो याद करते हैं।
– याद शायरी

Popular Pages