Thursday , May 6 2021

शिक़वा शायरी Category

सुहाना मौसम और हवा – शिक़वा शायरी

सुहाना मौसम और हवा में नमी होगी,आँसुओं की बहती नदी न थमी होगी,मिलना तो हम तब भी चाहेंगे आपसे,जब आपके पास वक़्त औरहमारे पास साँसों की कमी होगी। – शिक़वा शायरी

Read More »

दिल की बेताबी जान ले – शिक़वा शायरी

भले ही राह चलते तू औरों का दामन थाम ले,मगर मेरे प्यार को भी तू थोड़ा पहचान ले,कितना इंतज़ार किया है तेरे इश्क़ में मैंने,ज़रा इस दिल की बेताबी को भी तू जान ले। – शिक़वा शायरी

Read More »