सैड शायरी

चाहत के ज़माने – सैड शायरी

करोगे याद एक दिन चाहत के ज़माने को,चले जायेंगे जब हम कभी वापस न आने को,करेगा महफ़िलों में जब ज़िक्र हमारा कोई,तन्हाई ढूंढोगे तुम भी दो आँसू बहाने को।
– सैड शायरी

Popular Pages