Sher Category

Mousam – Sher

आज मौसम बहुत खुशनुमा है.. , क्या तुमने हवाओं को चूमा है…?

Read More »

Bandgi – Ahmed Faraz

बंदगी हमने छोड़ दी फ़राज़ क्या करें लोग जब ख़ुदा हो जाएँ

Read More »

Janaza – Dard Bhari Shayri

जनाजा मेरा देखकर….बोली वो….!! वो ही मरा क्या, जो मुझ पर मरता था….!!!

Read More »

Lakeer – Dard Bhari Shayri

और भी बनती लकीरें दर्द की शुक्र है खुदा तेरा जो हाथ छोटे दिए !!

Read More »

Udas – Dard Bhari Shayri

उदास कर देती है, हर रोज ये शाम मुझे ..!! यूँ लगता है, जैसे कोई भूल रहा हो, मुझे आहिस्ता आहिस्ता..!!

Read More »

Sardiya – Sher

फिर पलट रही है सर्दियो की सुहानी शामें, फिर उसकी याद में जलने का ज़माना आ गया

Read More »

Nazar – Sharab/ Saki/ Maykhana Shayri

ना पीने का शौक था, ना पिलाने का शौक था.. हमे तो सिर्फ नजरे मिलाने का शौक था….. पर हम नजरे ही उनसे मिला बैठे ….. जिनको नजरो से पिलाने का शौक था…..

Read More »

Palake – Akbar Allahbadi

आँखों में तेरी ज़ालिम छुरियाँ छुपी हुई हैं  देखा जिधर को तूने पलकें उठाके मारा

Read More »

Nigah – Husn/ Taareef Shayri

सोचा था नही करेगे कभी किसी से मोहब्बत… पर तुम्हारी उन निगाहो ने… मेरे दिल को ही मेरे खिलाफ कर दिया…

Read More »